राजस्थान लोक चित्रकला

राजस्थान लोक चित्रकला

  1. पथवारी - गाँवो में पथरक्षक रूप में पूजा जाने वाला स्थल जिस पर विभिन्न प्रकार के चित्र बने होते है.
  2. पाना - राजस्थान में कागज पर जोचित्र उकेरे जाते है , उनको पाना कहा जाता है
  3. मांडणा - प्राय: सभी त्योहारों एवं मांगलिक अवसरों पर पूजा अथवा चौक पर बनाया जाता है .
  4. फड़ - राजस्थान में कपडो पर किये जाने वाले चित्रांकन को "फड़" कहा जाता है                           
  5. गुदना - शरीर पर नाम , बेल व बूटे आदि खुदवाये जाते है
  6. सांझी - यह गोबर से घर के आंगन , पूजा स्थल अथवा चबूतरे पर बनाया जाता है
  7. कावड - यह मन्दिर जैसी एक काष्ट कलाकृति होती है
  8. मेहँदी - इसका प्रयोग  त्योहारों एवं मांगलिक अवसरों पर किया जाता है.
                
    Post a Comment

    Popular Posts