श्रीगंगानगर, सवाई माधोपुर, सीकर और सिरोही

श्रीगंगानगर



श्रीगंगानगर
• क्षेत्र फल : १०९२९ km2
• यह बीकानेर संभाग में हैउपखंड :५, तहसील: ९
• गंगानगर जिला पाकिस्तान की सीमा के निकट स्थित है
• एशिया महाद्वीप का सनसे बड़ा यांत्रिक कृषि फार्म 12140 हैक्टेयर
• गुरुद्वारा बुढा जोहडा राजस्थान के प्रमुख गुरूद्वारो में से एक है
• हिन्दुमलकोट –पाकिस्तान से लगी रेडक्लिफ रेखा का प्रारम्भिक बिंदु है
• जैतसर – यांत्रिक कृषि फार्म स्थित है
• सूरतगढ़ – एशिया का बड़ा कृषि फार्म
• सूरतगढ़ ताप विद्युत गृह – राजस्थान का पहला सुपर थर्मल पावर स्टेशन
• घडसाना – यहाँ गोलीकांड की जांच हेतु केजरीलाल आयोग गठित किया गया है
• राज्य का छठा शुष्क बंदरगाह स्थापित
• रंगमहल – यहाँ १९५२-५४ में स्वीडिश दल द्वारा खुदाई कार्य में मिट्टी के बर्तन , आभूषण व पूजा के बर्तनों के साथ १०५ ताँबे की मुद्राये मिली है



सवाई माधोपुर

सवाई माधोपुर
• क्षेत्रफल : ५०२४ km2
• यह जिला भरतपुर संभाग में है
• उपखण्ड : ३, तहसीले :५
• जयपुर के महाराजा माधोसिंह प्रथम के नाम पर १५ मई १९४९ को सवाई माधोपुर जिला बनाया गया था
• सवाई माधोपुर जिले में चौहान वंश का ऐतिहासिक रणथम्भौर दुर्ग स्थित है
• सवाई माधोपुर में रणथम्भौर उद्यान स्थित है
• अपनी प्राकृतिक बनावट व सुरक्षात्मक दृष्टि से अभेद्य यह दुर्ग विश्व में अनूठा है
• रणथम्भौर राष्ट्रीय उद्यान :
• बाघों की गिरती हुई संख्या के कारण चर्चित स्थल
• सफारी पार्क (वाइल्ड लाइफ ट्रेनिग सेन्टर)
• रणथम्भौर : सैयद सदरूद्दीन की दरगाह, पुष्पक महल : हम्मीर द्वारा निर्मित , हम्मीर महल , बत्तीस खम्भों की छतरी : हम्मीर ने अपने पिता जयसिंह कर बत्तीस वर्षों के शासनकाल के प्रतीक के रूप में लाल पत्थर से निर्मित छतरी, बादल महल : कछवाह राजपूतो द्वारा निर्मित, जवरा –भंवरा (अनाज गोदाम), गणेश मन्दिर
• चौथ का बरवाडा – चौथ माता का मन्दिर
• रामेश्वरम : चम्बल , बनास और सीप नदियों के संगम स्थल पर स्थित इस बांध द्वारा भरतपुर केवलादेव राष्ट्रीय अभयारण्य को पेय जल आपूर्ति की जायगी
• सर्वाधिक बीहड़ भूमि का प्रसार


सीकर


सीकर
• क्षेत्रफल : 7732 km2
• उपखण्ड : 3 , तहसीले : 6
• यह जिला जयपुर संभाग में है
• प्रथम हाई टेक जिला
• एड्स कंट्रोल एण्ड ट्रिटमेंट सेन्टर
• बिसुका कार्यक्रम में अव्वल जिला
• गणेश्वर सभ्यता , नीम का थाना के पास स्थित काटली नदी के उद्दगम स्थल पर स्थित इस स्थान को भारत की ताम्रयुगीन सभ्यताओ की जननी कहा जाता है
• गुरारा – यहाँ चांदी से बने २७४४ पंचमार्क सिक्के पुरातत्व विभाग को मिले है
• केल्साइट उद्योग सीकर में सर्वाधिक है
• रोहिल्ला गढेश्वर में यूरेनियम के विशाल भण्डार मिले है
• काशी का बास – महाराष्ट्र राज्यसभा के लिए नामांकित राहुल बजाज की जन्म स्थली
• सपत्न गौमाता मन्दिर – रैवासा मे स्थापित राजस्थान का प्रथम और भारत का चौथा मन्दिर.
• खंडेला – गोटा उद्योग के लिए प्रसिद्ध
• फतेहपुर –राजस्थान का प्रथम कृषि विज्ञान केन्द्र
• रघुनाथ गढ़ – उत्तरी अरावली की सबसे ऊँची चोटी- १०५५ मीटर
• खाटू – खाटूश्याम का प्रसिद्ध मन्दिर (दातारामगढ़ तहसील –सीकर)
• रैवासा – जीणमाता एवं सप्तम गौमाता का मन्दिर
• देवराला – रूप कँवर सती कांड १९८७ के कारण चर्चित
• बलेखण – देश का सबसे बड़ा बकरी पालन फार्म
• सरगोठ : पवन पुत्र जैविक आंवला फार्म
• खाचरियावास – उपराष्ट्रपति भैरोंसिंह शेखावत का जन्म स्थान



सिरोही

सिरोही
• क्षेत्रफल – ५१३६ km2
• यह जोधपुर संभाग में है
• उपखण्ड – २, तहसीले -५
• सिरोही नगर का मूल नाम – शिवपुरी था (कर्नल टॉड के अनुसार)
• सिरोही जिले का एकमात्र पर्यटन स्थान आबू पर्वत है
• कुटीर उद्योगों में सिरोही लोहा बनाने में आगे है
• माउन्ट आबू में सर्वोतम झील ‘नक्की झील’ जिसके बारे में बताते है की इसको देवताओ ने अपने नाखूनों से खोदा था
• दिलवाडा का जैन मन्दिर
• राजस्थान का शिमला
• सिरोही – राजपुताना गवर्नर के एजेंट(एजीजी) का मुख्यालय
• गुरू शिखर – अरावली पर्वत माला की सबसे ऊँची चोटी, सर्वाधिक वर्षा वाला स्थान (राजस्थान), दिलवाडा के प्रसिद्ध जैन मन्दिर, प्रथम इको फेजाइल जोन
• माउन्ट आबू अभयारण्य – जंगली मुर्गो के लिए प्रसिद्ध
Post a Comment

Popular Posts